Friday, September 21, 2018

Essay on Dog in Hindi कुत्ता पर निबंध

Essay on Dog in Hindi कुत्ता पर निबंध

Essay on Dog in Hindi | कुत्ता पर निबंध  कुत्ता एक घरेलू जानवर है जे बड़ा ही वफादार होता है और मानव का सबसे अच्छा दोस्त भी होता है। जंगल में रहने वाले कुत्ते बड़े ही खतरनाक होते हैं।  हालांकि पालतू कुत्ते बहुत ही मित्र वान होते हैं यह अपने मालिक के प्रति सदैव वफादारी निभाते हैं। इसी वजह से मानव इसे बहुत  पसंद करता है और इसे अपने घर में पालता है यह जानवर सर्वाहारी होता है अर्थात मांसाहारी और शाकाहारी दोनों तरह का भोजन करना पसंद करता है।  कुत्ते के दांत बड़े ही नुकीले और तेज होते है जिससे यह किसी भी चीज की चीर फाड़ बड़ी आसानी से कर लेते हैं कुत्ते की पूंछ लंबी होती है हालांकि कुछ कुत्तों की पूंछ छोटी होती है इसकी पूछ सदैव टेडी रहती है।

कुत्तों की टांगे पतली और मजबूत होती है जो इन्हें तेज दौड़ने में सहायता करती है यह जानवर ज्यादातर आकार और रंग , व्यवहार में एक दूसरे से अलग होते हैं कुत्ते कई प्रकार की चीजें खाते हैं हालांकि 1 घरेलू कुत्ता शाकाहारी भोजन करके ही जीवित रह सकता है जंगली कुत्ते ज्यादातर मांस खाकर जीवित रहते हैं एक घरेलु कुत्ता आम तौर पर  रोटी, चावल, दूध और ब्रेड खाता है कुत्ते दुनिया भर में पाए जाते है यदि कुत्ते को प्रशिक्षण दिया जाए तो इससे बहुत सारे काम लिए जा सकते हैं जैसे सुरक्षा का काम पुलिस में अपराधियों को ढूंढना, सेना आदि में बहुत कारगर सिद्ध होते हैं इसलिए ज्यादातर लोगों ने अपने घर में सुरक्षा के लिए कुत्ते पाले होते हैं एक घरेलु कुत्ता परिवार के साथ एक सदस्य के रूप में रहने लगता है क्योंकि वह परिवार के सभी मेंबरों के साथ बहुत जल्दी घुल मिल जाता है।

पालतू कुत्तों को उसके मालिक बड़ी ही देखभाल से पालते हैं उन्हें समय पर नहलाते हैं खिलाते हैं और जंजीर से बांध कर रखते हैं बाहर घुमाने ले जाते  हैं  किंतु गलियों में ज्यादातर अपने आवारा कुत्ते की बड़ी संख्या घूमती हुई देखी होगी यह कुत्ते भोजन की तलाश में इधर उधर भटकते रहते हैं। इसे चालाक जानवरों की श्रेणियों में भी गिना जाता है इसे अच्छे प्रशिक्षण के द्वारा कुछ भी बड़ी आसानी से सिखाया जा सकता है।

एक कुत्ता आम तौर पर 10 वर्ष से लेकर 15 वर्ष तक ही जीवित रह सकता है। कुत्ता दिन में आराम करता रहता है और हल्की सी आहट से वह चौंकन्ना हो जाता है और भौंकने लगता है। माना गया है के कुत्ते को भूचाल आने की आहट मानव से पहले पता चल जाती है। कुत्ता कई तरह की आवाजें आसानी से निकाल सकता है जैसे भौंकना , गुराना , चींकना। कुत्ता बहुत तेज़ रफ्तार से दौड़ सकता है जिससे यह चोरों को बड़ी आसानी से पकड़ सकता है। इसके आलावा डॉग्स के सूंघने की क्षमता बहुत तेज़ होती है इसे किसी भी चीज़ की गंध दूर से महसूस होने लगती है।

मादा कुत्ते का गर्भकाल 9 महीनों का होता है जिससे यह 3 से लेकर 5 पिल्लों को जन्म देती है जन्म के समय पिल्लों की ऑंखें बंद होती हैं कुछ दिनों के बाद उन्हें धीरे धीरे दिखाई देना शुरू होता है। माँ अपने बच्चों को आत्म निर्भर होने तक अपना दूध पिलाती है। कुत्ते के बच्चों को पिल्ला जा पॉप कहा जाता है।

Essay on Dog in Hindi - 2
कुत्ता एक पालतू पशु है कुत्ते को स्तनधारियों जानवरों की श्रेणी में रखा गया है क्योंकि यह पशु बच्चों को जन्म देता है और दूसरे स्तनधारियों की तरह अपना स्तनपान भी कराता है। भेड़िये और कुत्ते का एक दूसरे से गहरा रिश्ता जुड़ा है इनका 99 फ़ीसदी डीएनए एक दूसरे से मिलता है। ऐसा भी माना गया है कि मनुष्य द्वारा कुत्ते को दूसरे जानवरों से पहले पालतू जानवर बनाया गया था। कुत्ता संसार भर में पाया जाने वाला पशु है इसकी बहुत सारी प्रजातियां भी मिलती है जो अपने रंग , आकार और व्यवहार से एक दूसरे से मेल नहीं खाती। डॉग का स्वभाव बड़ा ही मददगार और वफादार होता है। वह अपने मालिक को जिंदगी भर नहीं भूलता और हमेशा उसके साथ वफादारी निभाता है और उसका साथ देता है। कुत्ता एक ऐसा जानवर है जो मनुष्य की बोली और उसके स्वभाव को बड़ी ही जल्दी समझ लेता है। कुत्ता एक सर्वहारी पशु होता है रोटी और दूध के इलावा मांस भी खा लेता है। इसे बड़ी आसानी से पालतू बनाया जा सकता है।
कुत्ता एक ऐसा घरेलू जानवर होता है जो मानव के लिए बड़ा ही उपयोगी और आज्ञाकारी पशु है संसारभर में कुत्तों की सैकड़ों प्रजातियां पाई जाती है। नस्ल के आधार पर सभी प्रजातियां एक दूसरे से छोटी जा फिर बड़ी होती है। यह पशु काले,  सफेद और भूरे इत्यादि रंगों में पाए जाते हैं। कुत्ता दूसरे जानवरों से सतर्क जानवर होता है हल्की सी आहट भी इसे बड़ी जल्दी सुनाई दे जाती है। कुत्तों को रात्रि के समय भी दिखाई देता है। इस जानवर को सर्वाहारी जानवरों की श्रेणियों में गिना जाता है क्योंकि यह रोटी के अलावा मांस भी बड़े चाव से खाता है। एक सामान्य कुत्ते के 42 दांत होते हैं इनके दांत बड़े ही नुकीले होते हैं जिससे यह मांस की चीर फाड़ बड़ी सरलता से कर लेते हैं।

एक सामान्य कुत्ते के शरीर पर घने और लंबे बाल होते हैं ये बाल इसे तेज धूप या फिर सर्दी से बचाते हैं। कुत्तों की नस्लें अपने वजन,  आकार और रंग में एक दूसरे से भिन्न होती है। कुत्ता जिस घर में रहता है उस घर के मालिक को कभी नहीं भूलता और ना ही उसे कभी धोखा देता है वह सदैव उसके साथ रहता है और उसकी रखवाली करता है। वह दौड़ने भी मैं भी बहुत माहिर माने जाते हैं जो छोटे जानवरों का शिकार बड़ी आसानी से कर लेते हैं। पुलिस के अधिकारी अक्सर कुत्तों को चोर और अपराधियों को पकड़ने के लिए पालते हैं।

घरेलू जानवर एवं एक वफादार जानवर होता है कुत्ता इसे मानव का एक अच्छा मित्र भी कहा जा सकता है क्योंकि लोग इसे अपने घरों में चोरों से रखवाली के लिए पालते हैं। कुत्ता मानव के साथ कुछ ही दिनों में एक अच्छा मित्र बन जाता है यही कारण है कि मनुष्य के द्वारा कुत्ते को इतना पसंद किया जाता है जिस कारण वह उसे अपने घर में पालते हैं और उसकी रखवाली करता है। 

जो कुत्ते घरों में पाले जाते हैं वह अकसर दूध जा रोटी आदि खा कर ही अपना पेट भर लेते हैं जब के जंगलों में रहने वाले कुत्तों को ना तो रोटी मिल पाती और ना ही दूध इसीलिए वह मांस पर ही ज्यादातर निर्भर रहते हैं। इसीलिए कुत्तों को सर्वाहारी जानवर भी बोला जाता है। कुत्ते संसार भर में पाए जाते हैं अलग-अलग देशों में इनकी अलग-अलग प्रजातियां पाई जाती है कुत्तों की कुछ ऐसी प्रजातियां भी है जो एक बकरे जितनी बड़ी भी हो सकती है और कुछ ऐसी भी होती है जो एक बिल्ली से भी छोटी होती है।

कुत्ता एक चौपाया पशु होता है जिसकी एक मुड़ी हुई लंबी पूंछ होती है जो इसका बैलेंस बनाए रखने में इसकी मदद करती है और दो बड़ी बड़ी आंखें होती है जो दिन के अलावा इसे रात को भी देखने में इसकी मदद करती है। एक कुत्ते का जीवनकाल 8 से 13 वर्षों तक होता है। कुछ प्रजातियों का ज्यादा जा कम भी हो सकता है। कुत्तों की सूंघने की क्षमता एक इंसान से ज्यादा होती है ज्यादातर पुलिस अधिकारी अपराधियों या चोरों को ढूंढने के लिए कुत्तों का सहारा लेती है। कुत्तों में ऐसी क्षमता होती है जब ये किसी इंसान की गंध को सूंघ लेते हैं तो वह  उसे दोबारा नहीं भूलते। 

इन के दांत बड़े ही तेज और नुकीली होते हैं जो पल भर में ही किसी चीज को फाड डालते हैं। कुत्ते संसार के कोने-कोने में पाई जाते है किंतु हर देश में अलग प्रजातियां देखने को मिलती है। कुत्तों को ज्यादातर मानव के साथ ही रहना पसंद होता है वह अपने मालिक को देखते ही अपनी दुम हिलाने लगते हैं। घरों में पाले जाने वाले कुत्तों की नस्लें एक सदस्य के रूप में परिवार के सभी मेंबर के साथ बड़ी ही जल्दी घुल मिल जाते हैं परिवार के सभी मेंबर उसे प्यार करते हैं और उसकी देखभाल भी करते हैं। आजकल लोग कुत्तों को शौंक  के लिए भी पालते हैं क्योंकि उनका कुत्तों के साथ गहरा लगाव जुड़ा होता है।

कुत्ता विश्व के प्रिय जानवरों में से गिना जाता है। ये एक चौपाया पशु होता है जिसकी दो बड़ी-बड़ी गोल आंखें होती है दो कान होते हैं जिनके सुनने की क्षमता बहुत अधिक होती है। कुत्ते के पूरे शरीर पर घने बाल होते हैं। संसार भर में कुत्तों की बहुत सारी नस्लें होती है वह एक दूसरे से भिन्न होती है। इनकी आयु तकरीबन 10 से 15 वर्ष तक हो सकती है किंतु इन की कुछ ऐसी नस्लें भी है जिनकी उम्र 15 वर्ष से ज्यादा भी हो सकती है। कुत्ता एक सर्वाहारी पशुओं की श्रेणी में आता है क्योंकि यह रोटी और मांस दोनों ही खा सकता है। 

जिन कुत्तों को घरों में पाला जाता है वे ज्यादातर तो रोटी खाकर ही जिंदा रहते हैं जब के जंगलों में पाए जाने वाले कुत्ते मांस खा कर अपना पेट भरते हैं। सूंघने और सुनने की क्षमता के मामले में कुत्ते मनुष्य से आगे होते हैं इन्हें हल्की सी आहट भी सुनाई दे देती है वह जानवर बड़ा ही चालाक व समझदार होता है क्योंकि यह  अपराधियों और चोरों को पकड़ने में पुलिस की मदद करता है इनके इन्ही गुणों के चलते लोग इन्हें बेहद पसंद करते हैं।

कुत्ता एक ऐसा जानवर होता है जो अपने मालिक को सदैव याद रखता है वह अपने मालिक को देखते ही अपनी पूंछ हिलाने लगता है जिसका अर्थ होता है कि उसने अपने मालिक को पहचान लिया है। वह किसी अनजान शख्स को देखते ही भौंकने लगते हैं। यदि कुत्तों को थोड़ा प्रशिक्षण दिया जाए तो इनसे बहुत सारा काम लिया जा सकता हैं क्योंकि यह किसी चीज को बहुत जल्दी सीख लेते हैं। ये पशु विश्व भर में पाया जाता है इनकी आंखें चमकीली होती है जो इन्हें रात के समय देखने में मदद करती हैं।

कुत्ते को बुद्धि वाले जानवरों की श्रेणियों में रखा गया है , यह जानवर एक चौपाया जानवर होता है जिसकी दो चमकीली आंखें होती है इसके दांत बड़े ही नुकीले होते हैं जिससे आसानी से सख्त से सख्त भोजन चवा लेता है। कुत्ते बहुत सारे रंगो और नस्लों में पाए जाते हैं। नस्ल के आधार पर ही कुत्तों का शरीर छोटा जा फिर बड़ा हो सकता है। कुत्तों का जीवन काल भी नस्ल के आधार पर ही टिका होता है एक सामान्य कुत्ते की आयु 8 से 10 वर्ष तक होती है जब के कुछ नस्लों की इससे ज्यादा भी हो सकती है। कुत्ते का मुख्य आहार रोटी होता है किंतु यह मांस भी  बड़े चाव से खा लेता है इसीलिए यह एक सर्वाहारी पशु है। नर को कुत्ता जब के मादा को कुत्तिया कहा जाता है

एक कुत्तिया का गर्भकाल समय 9 महीनों का होता है 9 महीनों के पश्चात यह 6 से 8 बच्चों को जन्म देती है इस के बच्चों को पिल्ला कहा जाता है। जन्म के आठ 10 हफ्तों तक वह अपने बच्चों को दूध पिलाती है। इनके सूंघने की क्षमता बड़ी ही लाजवाब होती है इसी गुण के कारण सेना और पुलिस के अधिकारी इन्हें पालते हैं क्योंकि यह चोरों और अपराधियों को पकड़ने में इनकी मदद करते हैं। इसके अलावा कुत्ते विस्फोटक सामग्री को ढूंढने में भी मदद करते हैं।

कुत्तों को भेड़ियों का पूर्वज समझा जाता है क्योंकि इनका डीएनए 99% भेड़ियों से मिलता जुलता है। इनका औसतन जीवन काल 10 से 15 वर्षों तक हो सकता है किन्तु कुछ नस्लें ऐसी भी है जो इससे ज्यादा सालों तक जिंदा रहती है। कुत्ते अपनी भावनाओं को दर्शाने के लिए अक्सर अपनी पूंछ को हिला कर भावनाएं व्यक्त करते हैं। कुत्तों का शरीर मानव से ज्यादा गर्म होता है किंतु इन्हें पसीना फिर भी नहीं आता इनके शरीर का पसीना नाक और पंजों से निकलता है। 

यह एक ऐसा प्राणी है जो हर मौसम के अनुसार खुद को ढाल लेता है। कुत्तों के पैरों के नाखून बड़े ही तेज और नुकीले होते हैं जिससे यह जमीन में बड़ी तेजी से किसी चीज को खोज डालते हैं। कुत्तों से संबंधित एक रोचक बात यह है कि इनका खून 13 तरह का होता है जब के मानव खून सिर्फ चार तरह का होता है। एक कुत्तिया का छोटा सा बच्चा भी इंसान के बच्चे जितना ही बुद्धिमान होता है। कुत्ता अपने मालिक को सूंघ ही पहचान लेता है और वर्षों तक उसे कभी नहीं भूलता। कुत्ते कई प्रकार की आवाज निकाल सकते हैं। यदि कुत्ते को चॉकलेट दी जाए तो चॉकलेट खाने से उसकी मौत भी हो सकती है क्योंकि चॉकलेट में पाया जाने वाला तत्व कुत्ते के शरीर के लिए जहर का कार्य करता है।




essay on dog in hindi


Essay on Dog in Hindi कुत्ता पर निबंध  

          कुत्ता संसार भर में पाया जाने वाला एक चौपाया जानवर होता है। यह वफादार प्राणियों की श्रेणी में आने वाला जानवर है। पुराने समय से ही मानव और कुत्ते का गहरा संबंध रहा है लाखों वर्षों से मानव कुत्ते को पालता आ रहा है। इसीलिए कुत्ता मानव का बहुत जल्दी अच्छा मित्र भी बन जाता है और उसके साथ जल्दी घुल मिल जाता है।

         कुत्ता एक ऐसा प्राणी है जो अपने मालिक के प्रति हमेशा वफादार बना रहता है वह उसका
   हमेशा साथ देता है और उसके घर की रखवाली करता है इसलिए ज्यादातर लोगों को तो को घर की रखवाली के लिए पालते हैं किंतु आजकल बहुत सारे लोग अपने शौक को पूरा करने के लिए भी कुत्तों को पालते हैं।

Essay on dog in Hindi


          पुराने जमाने में लोग अपने घर की रखवाली करने के लिए कुत्तों को पालते थे। संसार भर में कुत्तों की बहुत सारी प्रजातियां पाई जाती है जो अपने व्यवहार रंग और नस्ल से एक दूसरे से बिल्कुल भिन्न होती हैं। कोई कुत्ता बड़े आकार का होता है और किसी का आकार छोटा होता है दुनिया भर में ऐसे कुत्ते भी पाए जाते हैं जो बकरे जैसे आकार के भी होते हैं।

          कुत्ता संसार भर में पाया जाने वाला पशु है भारत में कुत्तों की बहुत सारी प्रजातियां पाई जाती है। बड़े पैमाने पर कुत्तों के खेल भी करवाए जाते हैं जिनमें से देश-विदेश से लोग इन प्रतियोगिताओं में अपने कुत्तों को छोड़ते हैं।

          कुत्ता एक चौपाया जानवर होता है जिसकी एक टेढ़ी पूंछ होती है। इसकी पतली पतली सी टांगे होती है जिसकी मदद से यह तेज दौड़ सकता है। कुत्तों की सूंघने की क्षमता बहुत अधिक होती है। इसीलिए ज्यादा तारा पुलिस वाले कुत्तों को पालते हैं क्योंकि कुत्ते चोरों का पता लगाने और किसी विस्फोटक सामग्री को पता लगाने के लिए मदद करते हैं। कुत्ते जमीन में दबी हुई किसी सामग्री को भी सूंघ लेते हैं।

          कुत्ते बहुत सारे रंगों में पाए जाते हैं जैसे सफेद रंग काला भूरा इत्यादि। कुत्ता सर्वाहारी जीव होता है जो रोटी के अलावा मांस भी खा लेता है जंगलों जा पहाड़ों में रहने वाली ज्यादातर कुत्ते मांस खाकर ही अपना पेट भरते हैं वह वहां पर रहने वाले छोटे-मोटे जीव जंतुओं को मारकर अपना पेट भरते हैं जब के घरों में रहने वाले कुत्ते ज्यादातर रोटी या दूध के सहारे ही जिंदा रहते हैं।

          कुत्तों के नाखून बड़े ही नुकीले और तेज होते हैं वे किसी भी चीज  को आसानी से चीर फाड़ कर सकते हैं। इसकी दो गोल गोल आंखें होती है जिसकी सहायता से यह दूर तक देख सकता है रात के समय इनकी आंखें चमकदार हो जाती है जाने की यह रात्रि को भी आसानी से देख सकते हैं। इसके अलावा कुत्तों की मानव की तुलना में गुना ज्यादा सुनने की क्षमता होती हैऔर इनके सुनने की क्षमता भी काफी तीव्र होती है यह धीमी से धीमी आवाज को भी आसानी से सुन सकता है।

           कुत्ते के मुंह में तकरीबन 40 से अधिक दांत होते हैं पुलिस चोर या फिर विस्फोटक सामग्री का पता लगाने के लिए इनको पालती है। दुनिया भर के सभी देशों में अलग-अलग कुत्तों की नस्लें पाई जाती हैं।

           कुत्ते की दौड़ने की क्षमता 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से होती है इसलिए यह तेज दौड़ने में भी सक्षम होते हैं। कुत्तों को पसीना बहुत कम आता है पीने नाक और पंजों के द्वारा ही थोड़ा पसीना आता है। ये अपनी जीभ को बाहर निकालकर ही सांस लेते हैं। कुत्ता पूरा जीवन भर अपने मालिक की मदद करता रहता है। वह अपने मालिक को कभी नहीं भूल सकता।

          एक मादा कुत्ता लगभग महीनों के पश्चात अपने बच्चों को जन्म देती है एक बार में मादा कुत्ता पांच से सात बच्चों को जन्म दे सकती है। कुत्तिया के बच्चों को बिल्ला जा पप्पी कहा जाता है। लगभग से महीनों तक का बच्चे अपनी मां का दूध पीते हैं।

10 Lines on Dog in Hindi - 2

1.     कुत्ता एक ऐसा जानवर है जो हर समय सतर्क बना रहता है हल्की सी आहट होने पर यह अपने कान खड़े कर लेता है ऐसा भी माना जाता है कि भूचाल आने की आहट सबसे पहले कुत्ते को पता चल जाती है।

2.     एक कुत्ते का जीवनकाल 12 से 15 वर्षों तक होता है किंतु इनकी अलग-अलग प्रजातियों का जीवनकाल थोड़ा अलग अलग होता है जाने के कुत्ते 12 वर्षों से ज्यादा भी जिंदा रह सकते हैं और इनकी कुछ प्रजातियां ऐसी भी होती है जिनका जीवनकाल 10 वर्ष से भी कम होता है।

3.     कुत्ता एक ऐसा जानवर है जो हमेशा वफादार बना रहता है कुत्ते की वफादारी से संबंधित बहुत सारी कहानियां भी किताबों में पढ़ने को मिल जाती है इसीलिए कुत्ता अपनी वफादारी को लेकर संसार भर में प्रसिद्ध है।

4.     किंतु कुत्ता जल्दी पागल हो जाए तो उसे काफी खतरनाक हो जाता है इस के काटने पर इंजेक्शन लगवाने पड़ते यदि इंजेक्शन ना लगवाए जाएं तो इस के काटने पर इंसान पागल भी हो जाता है और उसकी मृत्यु भी हो सकती है।

5.     भेड़िए और कुत्ते का डीएनए एक दूसरे से तकरीबन 98% मिलता-जुलता है इसीलिए कुत्तों को भेड़ियों का पूर्वज भी माना जाता है कुत्ते और भेड़ियों का एक दूसरे से गहरा रिश्ता है।

6.     दुनिया भर में कुत्तों की सेट करो नस्लें पाई जाती है जो एक दूसरे से अलग अलग होती है किसी का जीवनकाल ज्यादा होता है किसी का काम होता है किसी का आकार छोटा होता है और किसी का बड़ा होता है।

7.     कुत्ता एक ऐसा जानवर है जो पानी में भी आसानी से तेल सकता है अक्सर आपने कुत्ता को पानी में तैरता हुआ देखा होगा।

8.     कुत्ता पानी में कभी नहीं डूबता अक्सर गर्मियों के दिनों में कुत्ते पानी में रहना ज्यादा पसंद करते हैं क्योंकि उन्हें गर्मी ज्यादा महसूस होती है।

9.     कुत्ते के जबड़े में तकरीबन 32 से लेकर 40 दांत होते हैं जय दांत बड़े ही नुकीले होते हैं जिनकी सहायता से यह किसी भी चीज की चीर फाड़ आसानी से कर लेते हैं।

10.  इनकी टांगें थोड़ी टेढ़ी और पतली होती है किंतु इसके बावजूद भी जी बड़ी तेज दौड़ सकते हैं। कुत्ते के पूरे शरीर पर बाल ही बाल होते हैं।

11.  कुत्ते ज्यादातर भूरे रंग में ही पाए जाते हैं इसके अलावा कुत्ते काले या सफेद रंग में भी होते हैं।




SHARE THIS

Author:

EssayOnline.in - इस ब्लॉग में हिंदी निबंध सरल शब्दों में प्रकाशित किये गए हैं और किये जांयेंगे इसके इलावा आप हिंदी में कविताएं ,कहानियां पढ़ सकते हैं

0 comments: