Posts

Showing posts from May, 2020

Teri Aukat kya hai Status

Image
अकड़ #तोड़ देंगे , उन #मंजिलों की,
जिनको अपनी #ऊंचाई पर ज्यादा #गरूर है..!!




#प्रेम से बात करोगे #तो प्रेम  ही पाओगे..
#अगर #अकड़ से  पेश आओगे तो  #मेरी #block_list में #नज़र आओगे..!!





aukat hai kya dp dekhne ki 

time aane do jabaw vi denge hisab vi lenge aur keh ke lenge

khoon me ubal aaj vi khandaani hai duniya hamare shaunk ki nahi attitude ki diwani hai 

koshish na kar sabhi ko khush rakhne ki khush rakhne ki kuchh logo ki  narajgi vi jaroori hai  charcha me bane rehne ke liye 








Essay on Horse in Hindi घोड़ा पर निबंध

Image
मित्रों आज हमने घोड़े पर एक निबंध लिखा है घोड़ा एक शक्तिशाली और तेज दौड़ने वाला चौपाया जानवर होता है घोड़ा दुनिया भर में अपनी तेज रफ्तार के लिए जाना जाता है इसलिए आज हम आपके लिए घोड़े पर निबंध लेकर आए हैं


घोड़ा एक शाकाहारी जानवर है। यह एक सुंदर और वफ़ादार जानवरों में आता है जो के एक तेज़ दौड़ने वाला जानवर भी है। घोड़ा गाड़ी खीचने और वजन ढ़ोने के काम आता है। पुराने समयों में राजा युद्ध करने के लिए घोड़ों का सहारा लेते थे। वह बहुत ही हुशियार प्राणी है इसके सुनने की शक्ति बहुत अधिक होती है।

संसार में घोड़ों की सौ से भी ज्यादा नस्लें पायी जाती हैं इनमे से अरबी घोड़ा बेहद ख़ास माना जाता है। घोड़े छोटी सी उम्र से ही दौड़ना शुरू कर देते हैं। घोड़े नाक से सांस लेते हैं न की मूंह से , घोड़ा एक शक्तिशाली जानवर है जो बिना रुके कई घंटों तक दौड़ सकता है। एक घोड़े के उम्र 25 से 30 वर्ष तक होता है

Few Lines on Horse in Hindi

1.     घोड़ा पालतू जानवरों की श्रेणी में आता है।
2.     यह एक शाकाहारी जानवर होता है जो घास फूस खाकर अपना पेट भरता है।
3.     एक असामान्य घोड़े का वजन 300 से लेकर 600 किलोग्राम तक होता है मादा घोड़े …

10 Lines on Diwali in Hindi

Image
दिवाली के त्यौहार का एक बड़ा सामाजिक महत्व भी है क्योंकि इस दिवाली त्यौहार पर सभी धर्मों के लोग एक साथ मिलकर हर्षोल्लास से मनाते हैं और एक-दूसरे को खुशहाल दिवाली की शुभकामनाएं देते हैं, जिससे सामाजिक सौहार्द कायम होता है। 10 Lines on Diwali in Hindi for class 1,2,3,4,5,6,7,8,9,10th students दीपावली का शाब्दिक अर्थ होता है- दीपों की पंक्ति। इस त्योहार में लोग दीपों को पंक्तिबद्ध रूप में अपने घर के अन्दर एवं बाहर सजाते हैं।इस तरह, यह प्रकाश का त्योहार है। यह कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या को मनाया जाता है। इस दिन लोग गणेश-लक्ष्मी का पूजन करते है, जिन्हें पौराणिक कथा के अनुसार धन, समदि विघ्नहरण एव ऐश्वर्य का भगवान माना जाता है।दीपावली से एक दिन पहले का दिन 'धन त्रयोदशी' या 'धनतेरस' अतिशभ माना जाता है। इस दिन लोग सोना-चाँदी एवं बर्तन खरीदते है।धनतेरस मनाने के पीछे का पौराणिक कारण इस प्रकार है-कहा जाता है कि समद मन्थन के पश्चात् लक्ष्मी की उत्पत्ति इसी दिन हुई थी इसलिए इस दिन लक्ष्मी जी की पूजा की जाती है।समुद्र मन्थन से ही धनवन्तरि, जिन्हें औषध विज्ञान का प्रणेता मा…